Narayanpur : गिरफ्तारी के दौरान जानकारी छुपाने पर सचिव संघ के जिलाध्यक्ष 6 माह बाद निलंबित

Must Read

गिरफ्तारी के दौरान जानकारी छुपाने पर सचिव संघ के जिलाध्यक्ष 6 माह बाद निलंबित

नारायणपुर :- जिला पंचायत नारायणपुर के मुख्य कार्यपालन अधिकारी ने 7 मार्च 2024 को आदेश क्रमांक/ 9625/जि.पं./स्था./व्य.नस्ती/2024 के तहत पंचायत सचिव कार्तिक नंदी को निलंबित कर दिया है। मिली जानकारी के अनुसार थाना नारायणपुर में दर्ज अपराध क्रमांक 71/2023 में पंचायत सचिव कार्तिक नंदी को अन्य आरोपी बनाया गया है। उन्हें इस प्रकरण में 13 सितंबर 2023 को गिरफ्तार कर माननीय न्यायालय कोंडागांव के समक्ष पेश किया गया था,जहां से उन्हें पुलिस अभिरक्षा में उपजेल नारायणपुर भेजा गया था। उक्त प्रकरण में गिरफ्तारी के दौरान श्री नंदी ने अपना व्यवसाय प्राइवेट लिखवाया था, जबकि वर्तमान में वो ग्राम पंचायत ब्रेहबेड़ा और सोनपुर(अतिरिक्त प्रभार)में पंचायत सचिव के पद पर पदस्थ होने के साथ ही पंचायत सचिव संघ के जिलाध्यक्ष भी हैं।

पुलिस विभाग का पत्र सोशल मीडिया में हुआ वायरल

प्रकरण दर्ज होने के लगभग 6 माह बाद उप पुलिस अधीक्षक (अजाक) द्वारा मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत नारायणपुर को प्रेषित एक पत्र वायरल हुआ था, जिसमें थाना नारायणपुर में दर्ज अपराध क्रमांक 71/ 23 प्रकरण में कार्तिक नंदी को अन्य आरोपी बनाए जाने की सूचना दी गई थी। उक्त प्रकरण में धारा 417, 376, 376(2)(ढ),313,506 और एसटी/एससी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया था। उक्त प्रकरण में गिरफ्तारी के दौरान कार्तिक नंदी द्वारा ब्रेहबेड़ा और सोनपुर में पंचायत सचिव के पद पर होने की सूचना नहीं दिए जाने की बात लिखी है। इस पत्र के सोशल मीडिया में वायरल होने के बाद ही इस मामले ने तूल पकड़ा।

नंदी पर जिला-जनपद पंचायत हमेशा रहे मेहरबान

नारायणपुर जिले में जिला पंचायत और जनपद पंचायत हमेशा से ही कार्तिक नंदी पर मेहरबान नजर आया है। अब तक के सभी अधिकारियों के कार्यकाल के दौरान कार्तिक नंदी के पास एक से अधिक पंचायत का प्रभार रहा है। विभिन्न पंचायत में उनके कार्यकाल के दौरान उन पर कई दफे भ्रष्टाचार के आरोप भी लगते रहे हैं,इसके बावजूद भी उन पर पंचायत विभाग कुछ ज्यादा ही मेहरबान दिखता है। एक अजब सा संयोग है,कि जिस पंचायत में कार्तिक नंदी सचिव के पद पर पदस्थ होते हैं, उस पंचायत को ही एजेंसी बनाकर अन्य ग्राम पंचायत में भी निर्माण कार्य किया जाता है।

नंदी इंटरप्राइजेज और भाई के नाम पर किया लाखों का भुगतान

नंदी इंटरप्राइजेज के जीएसटी होल्डर पंचायत सचिव कार्तिक नंदी हैं। नंदी इंटरप्राइजेज का जीएसटी नंबर- 22AIKPN040 8R1Z2 है। पूर्व में नंदी जिन पंचायतों में पदस्थ रहे हैं, वहां 14वें,15वें वित्त और अन्य मदों से भी अपने फर्म नंदी इंटरप्राइजेज के नाम पर लाखों रुपये का चेक काट कर भ्रष्टाचार कर चुके हैं। वर्ष 2022 में नारायणपुर के तत्कालीन एसडीएम भूपेंद्र साहू ने भ्रष्टाचार के इस मामले में जांच के दौरान कार्तिक नंदी को दोषी पाते हुए उन पर दंडात्मक कार्यवाही की अनुशंसा की थी, लेकिन श्री नंदी पर मेहरबान जिला पंचायत द्वारा उनसे काटे गए चेक की रकम वापस लेकर इस मामले को दबा दिया गया। इसके बाद श्री नंदी ने अपने फर्म को 23 जनवरी 2022 को बंद कर दिया और उसके बाद जिन पंचायत में वो पदस्थ रहे वहां अपने सगे भाई गणेश नंदी के फर्म को भुगतान कर रहे हैं। नियमतः एक सरकारी कर्मचारी स्वयं किसी फर्म का मालिक नहीं हो सकता, साथ ही अपने परिवारजनों के नाम पर भी भुगतान नहीं कर सकता,लेकिन अधिकारियों के आशीर्वाद के चलते नारायणपुर जिले में सब कुछ संभव है।

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -spot_img
Latest News

Narayanpur में नक्सलियों ने किया IED blast, 2 जवान घायल

नारायणपुर  । नक्सल प्रभावित क्षेत्र में एक बड़ी घटना हुई है. नक्सलियों के प्लांट किये गए आईईडी की चपेट...
- Advertisement -spot_img

More Articles Like This

- Advertisement -spot_img