स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूल बेरला में सायबर अपराध एवं यातायात नियम के संबंध में विधिक जागरूकता शिविर का सफल आयोजन

Must Read

रिपोर्टर रोशन यादव बेमेतरा छत्तीसगढ़

बेमेतरा 20 फ़रवरी 2024:-* जिला विधिक सेवा प्राधिकरण बेमेतरा के अध्यक्ष / जिला एवं सत्र न्यायाधीश श्री बृजेन्द्र कुमार शास्त्री जी के मार्गदर्शन पर जिला विधिक सेवा प्राधिकरण बेमेतरा, सचिव श्रीमती जसविंदर कौर अजमानी मलिक की उपस्थिति में स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूल बेरला में विधिक जागरूकता शिविर का आयोजन कर छात्र-छात्राओं को सायबर काइम मोबाईल फ्राड व अन्य कानूनी संबंधित जानकारी दी गई। सचिव, श्रीमती जसविंदर कौर अजमानी मलिक मलिक ने छात्र-छात्राओं को सोशल मिडिया के कानूनी दुष्परिणाम के बारे में विस्तार से जानकारी दिया और बताया कि अपने दैनिक दिनचर्या एवं पारिवारिक नीजि जीवन में जितना हो सके स्मार्ट फोन से दूर रहकर अपने परिजनों के साथ अच्छा समय व्यतीत करे और अपने पढ़ाई पर फोकस करे। सचिव ने बतायी कि इस प्रकार फेसबुक, इंस्टाग्राम, स्नैपचैट में लड़के-लड़किया एक दूसरे से दोस्ती कर मेल-गुलाकात करते है और बाद में दुखद घटना का शिकार हो जाते हैं। सचिव ने बच्चों से आग्रह किया कि जब भी मौका लगे तब मोबाईल पर वे अपना समय व्यतीत करने की अपेक्षा अपने परिजनों के साथ समय बिताये और उनसे खुलकर बात-चीत करे। सचिव ने बतायी कि फेसबुक, वाट्सएप्प, इंस्टाग्राम, ट्वीटर में अपने व्यक्तिगत जानकारी पर्सनल फोटोग्राफ्स को अनावश्यक रूप से साझा नही करना चाहिए तथा इन सोशल मिडिया प्लेटफार्म के माध्यम से किसी के भी साथ जान-पहचान दोस्ती को बढ़ावा नही देना चाहिए। उन्होंने बच्चों को मोबाईल से दूर रहकर अच्छी-अच्छी किताबों को पढ़ने के लिए प्रोत्साहित किया। सायबर सेल के प्रधान आरक्षक श्री लोकेश सिंह के द्वारा छात्र-छात्राओं को फेसबुक, वाट्सएप्प, इंस्टाग्राम, ट्वीटर, यूट्यूब एवं गुगल सर्च इंजन के माध्यम से होने वाले विभिन्न प्रकार की सायबर अपराध के विषय में विस्तार से जानकारी दी गई। प्रधान आरक्षक लोकेश सिंह ने बच्चों को बताया कि किसी भी अंजान व्यक्ति के वाट्सएप्प कॉल, वीडियो कॉल को अटेंड नही करना है, किसी भी प्रकार के ऑनलाईन लिंक पर क्लीक नही करना है। प्रधान आरक्षक ने यह भी बताया कि आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के माध्यम से होने वाले अपराधों से बचने के लिए हमेशा यह सुनिश्चित कर ले कि जो व्यक्ति फोन पर स्वयं को पहचान वाला या कोई करीबी रिश्तेदार होना बता रहा है, वह वास्तव में वही व्यक्ति है या नही क्योंकि आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के
माध्यम से अपराध करने वाले व्यक्ति हुबहु वैसे आवाज की नकल कर बात करते है। प्रधान आरक्षक ने छात्राओं को विशेष रूप से आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के किसी भी अपराध की भनक लगते ही तत्काल अपने परिजन, शिक्षक अथवा करीबी व्यक्ति को बताने से नही डरने के लिए आग्रह किया। यातायात विभाग के पुलिस आरक्षक श्री भूपेन्द्र सिंह राजपूत ने यातायात संबंधी नियमों को छात्र-छात्राओं को बताते हुए सड़क दुर्घटना से बचने हेतु हेलमेट का उपयोग एवं बच्चों को बिना लायसेंस के वाहन का उपयोग न किये जाने हेतु कहा गया एवं सड़कों में चीक चौराहों पर लगे सिगनल लाईट के नियमों एवं वाहन चलाते समय मोबाईल का उपयोग नही किये जाने हेतु जानकारी दिया गया। प्राधिकरण द्वारा छात्र-छात्राओं को प्रोजेक्टर के माध्यम से ‘गुड टच, बैड टच” पर आधारित शॉर्ट मूवी दिखाया गया। विधिक जागरूकता शिविर में स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूल बेरला की अर्चना साहू, स्कूल के गणमान्य शिक्षकगण, यातायात विभाग से पुलिस आरक्षक श्री हुलेश साहू, पैरालीगल वालिन्टियर्स सुश्री सोनिया राजपूत, कु. स्वाति कुंजाम, श्री पवन साहू, श्री चेतन सिंह, श्री चंद्रकिशोर राजपूत एवं श्री पंकज घृतलहरे उपस्थित रहे।

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -spot_img
Latest News

भारत नहीं आ रहे टेस्ला के सीईओ एलन मस्‍क, दौरा फिलहाल टला

नई दिल्ली: टेस्ला के सीईओ एलोन मस्क 21 और 22 अप्रैल को भारत की यात्रा पर आने वाले थे।...
- Advertisement -spot_img

More Articles Like This

- Advertisement -spot_img