राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन एवं एड्स नियंत्रण कार्यक्रम के संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी 27% वेतन वृद्धि एवं नियमितीकरण की मांग को लेकर पुनः आंदोलन की तैयारी में

Must Read

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन एवं एड्स नियंत्रण कार्यक्रम के संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी 27% वेतन वृद्धि एवं नियमितीकरण की मांग को लेकर पुनः आंदोलन की तैयारी में

5 जून 2024 के बाद मुख्यमंत्री एवं*
स्वास्थ्य मंत्री से मिलने की तैयारी*
संविदा स्वास्थ्य कर्मी अंदर अंदर तैयारी
आंदोलन में जाने से गर्मी में स्वास्थ्य व्यवस्था पर पड़ सकता है बुरा असर
आम जनता हो सकते हैं परेशान

रिपोर्टर रोशन यादव बेमेतरा छत्तीसगढ़

बेमेतरा:-राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन एवं एड्स नियंत्रण कार्यक्रम के संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी 27%प्रतिशत वेतन वृद्धि एवं संविदा नियमितीकरण की मांग को लेकर फिर से आंदोलन की तैयारियां कर रहे हैं। ज्ञात हो कि छत्तीसगढ़ के राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन एवं एड्स नियंत्रण कार्यक्रम के स्वास्थ्य कर्मी पिछले कई वर्षों से संविदा नियमितीकरण की माँग को लेकर आंदोलन करते आ रहे हैं। तत्कालीन कांग्रेस की सरकार ने संविदा कर्मचारियों को नियमितीकरण की बात अपने घोषणा पत्र में कही थी लेकिन पांच वर्षों में संविदा कर्मचारियों का नियमितीकरण नहीं किया गया जिसके कारण संविदा कर्मी कांग्रेस सरकार के खिलाफ हो गए थे, और सत्ता से हाथ धोना पड़ गया, तत्कालीन कांग्रेस की सरकार ने संविदा कर्मचारियों को 27% वेतन वृद्धि देने की घोषणा किया था जो आज भी छत्तीसगढ़ के राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन एवं एड्स नियंत्रण कार्यक्रम के संविदा कर्मचारियों को अप्राप्त है जिससे कर्मचारियों में भारी रोष व्याप्त है, बताना चाहूंगा कि कोई भी सरकार घोषणा करने के बाद यदि उसमें अमल न करे तो आम जनता एवं कर्मचारियों में रोष होना स्वाभाविक सी बात है। कर्मचारी अपनी मांगों को लेकर वर्तमान सरकार का ध्यान आकर्षण करने के लिए फिर से रणनीति बना रहे हैं। अवगत हो कि आचार संहिता लागू होने के पूर्व छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री माननीय विष्णु देव साय जी एवं स्वास्थ्य मंत्री श्री श्याम बिहारी जयसवाल जी से भेंट के दौरान छत्तीसगढ़ के राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन एवं एड्स नियंत्रण कार्यक्रम के संविदा कर्मचारियों को लोकसभा चुनाव के बाद 27% वेतन को देने के आश्वासन दिया गया था इसी को पुनः स्मरण कराने हेतु स्वास्थ्य विभाग के संविदा कर्मचारी फिर से आंदोलन की राह पर अग्रसर दिखाई दे रहे हैं और अंदर ही अंदर रणनीति तैयार कर रहे हैं इस भीषण गर्मी में यदि स्वास्थ्य विभाग के संविदा कर्मचारी कोई आंदोलन करते हैं तो इसका प्रभाव स्वास्थ्य व्यवस्था पर पड़ सकता है,
सरकार को भी चाहिए कि अपने किए हुए वादे एवं संविदा कर्मचारियों की मांग को पूर्ण कर देना चाहिए वर्तमान विष्णु देव साय एवं मोदी गारंटी भाजपा सरकार पर संविदा कर्मचारियों को भारी विश्वास है कि उनको नियमितीकरण एवं 27% वेतन वृद्धि का लाभ अवश्य मिलेगा तत्कालीन कांग्रेस सरकार के खिलाफ संविदा कर्मचारियों ने एक महीने से अत्यधिक हड़ताल किया थे इसमें तूता रायपुर में वर्तमान उपमुख्यमंत्री एवं तत्कालीन भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष अरुण साव जी, वर्तमान उपमुख्यमंत्री श्री विजय शर्मा जी, वित्त मंत्री श्री ओपी चौधरी जी, श्री केदार कश्यप जी सहित भाजपा के तमाम बड़े-बड़े नेता संविदा कर्मचारियों के आंदोलन के दौरान समर्थन करने उनके पंडाल में गए थे और भाजपा सरकार आने के बाद 100 दिन के अंदर कमेटी बनाकर उनके नियमितीकरण एवं 27 प्रतिशत वेतन वृद्धि की बात कही थी कर्मचारी संगठन के द्वारा बताया गया कि सौ दिन के अंदर कमेटी तो बन गया है लेकिन उसने निर्णय आना बाकी है संविदा कर्मचारी संगठन ने लगातार विभिन्न मंच में अपनी मांगों को लेकर आवेदन निवेदन कर रहे हैं और एक बार फिर 5 जून के बाद संविदा कर्मचारियों में आंदोलन की राह में जाने के लिए तैयार हो रहे हैं।

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -spot_img
Latest News

सड़क दुर्घटना में लोगों की सहायता कर जान बचाने वाले नेक व्यक्तियों को हर घटना के लिए मिलेंगे 5000 रूपये

सड़क दुर्घटना में लोगों की सहायता कर जान बचाने वाले नेक व्यक्तियों को हर घटना के लिए मिलेंगे 5000...
- Advertisement -spot_img

More Articles Like This

- Advertisement -spot_img